मुख्यमंत्री शिवराज सिंह बोले- अब मैं हर भाषण में घुटनों पर बैठकर अपने भगवान (जनता) को प्रणाम करूंगा ।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह बोले- अब मैं हर भाषण में घुटनों पर बैठकर अपने भगवान (जनता) को प्रणाम करूंगा ।

मंदसौर के सुवासरा में शिवराज ने जनता को कुछ इस तरह प्रणाम किया था। कमलनाथ की टिप्पणी करने के बाद शिवराज ने अब हर कार्यक्रम में इसी तरह प्रणाम करने की प्रतिज्ञा ली है।केंद्र सरकार ने आज ग्रामीणों को उनके घर के मालिकाना हक के कागजात दिएसीएम बोले- अब हमारे ग्रामीण भी अब अपने मकान पर लोन ले सकते हैंमध्यप्रदेश में उपचुनाव के दौरान दो दिन पहले मंदसौर के सुवासरा में घुटनों पर बैठकर प्रणाम करने के मामले में अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ी प्रतिज्ञा ली है। उन्होंने कहा कि उन्हें बताना चाहता हूं, अब मैं हर भाषण से पहले घुटने पर बैठकर जनता को प्रणाम करूंगा। मध्यप्रदेश मेरा मंदिर है और जनता मेरी भगवान।
शिवराज ने आगे कहा- कांग्रेस ने कोई विकास नहीं किया, तो विकास की बात कैसे करेंगे। मैं सिर्फ नारियल लेकर चलता नहीं हूं। उसे फोड़ता हूं, ताकि लोगों के विकास के कार्य शुरू हो सकें। यह बात उन्होंने प्रधानमंत्री के स्वामित्व योजना के तहत ग्रामीणों को गांव में उनके मकान के मालिकाना हक देने के कार्यक्रम के दौरान कही। वे इसमें ऑनलाइन शामिल हुए थे। प्रधानमंत्री ने रविवार को देश के साथ ही प्रदेश के सीहोर, हरदा और डिंडोरी के ग्रामीणों को उनके मकान के कागजात दिलवाए।

इस अवसर पर शिवराज ने कहा कि स्वामित्व योजना से हितग्राहियों को सीधा लाभ होगा। प्रधानमंत्री ने एक और बड़ी सौगात किसानों और ग्रामीणों को दी है। परिवार बैंक से कागजी गारंटी पर लोन भी ले सकेंगे। हमने कोरोना काल में तेज गति से निर्माण का काम किया। अब गांवों में विकास की गंगा बहेगी। कांग्रेस ने कुछ नहीं किया, हम जन विकास के काम करते हैं तो हम पर टिप्पणी करते हैं। शिवराज ने घुटनों पर आने वाले कांग्रेस के आरोप पर कहा- हमारे संस्कार हैं। जनता के सामने झुकना और कांग्रेस का काम है कुचलना। यह संस्कारों की बात है।
मैं तो सदैव अपनी जनता के चरणों में शीश झुकाता हूं। मेरे घुटनों पर बैठने से जिन्हें तकलीफ है, उनकी जनता को कुचलने की प्रवृत्ति रही है। वे आपातकालीन मानसिकता के लोग हैं। मेरे लिए तो मध्यप्रदेश की जनता ही मेरी भगवान है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0