CM शिवराज ने कहा – पहले  4.16 लाख हेल्थ वर्कर्स को लगेगी वैक्सीन

CM शिवराज ने कहा – पहले 4.16 लाख हेल्थ वर्कर्स को लगेगी वैक्सीन

MP में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन

दूसरे चरण में फ्रंट लाइन कोरोना वॉरियर सफाई व पुलिस कर्मी

दूसरे चरण में 50 से ज्यादा उम्र के बीमार लोगों को भी रखा

तैयारी – राज्य कंट्रोल रूम और कमांड सेंटर की स्थापना 302 स्वास्थ्य केंद्र बने

वैक्सीनेशन के लिए प्रदेश में 302 स्वास्थ्य केंद्र बनाए गए है।

राज्य स्तर पर कंट्रोल रूम और कमांड सेंटर की स्थापना की जा चुकी है।

हर जिले तथा ब्लॉक स्तर पर भी कार्य की निगरानी के लिए नियंत्रण कक्ष स्थापित किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा है कोरोना के दोनों वैक्सीन ‘कोवीशील्ड’ एवं ‘को-वैक्सीन’ पूरी तरह सुरक्षित एवं विश्व में अभी तक तैयार किए गए कोरोना वैक्सीन में सर्वश्रेष्ठ

इस संबंध में कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार का भ्रम अथवा अफवाह न फैलाए।

वैक्सीनेशन 45 दिन की प्रक्रिया

SMS से दी जाएगी सूचना

MP में स्टोरेज क्षमता
1214 कोल्ड चैन पॉइंट
2311 आइस लाइन रेफ्रिजरेटर
2164 डीप फ्रीजर
ये होगी वैक्सीन लगाने वाली टीम
वैक्सीनेटर ऑफिसर : डॉक्टर (एमबीबीएस/बीडीएस), स्टाफ नर्स, फार्मासिस्ट, एएनएम और वह अधिकृत व्यक्ति जो इंजेक्शन लगा सके।
वेक्सीनेशन ऑफिसर 1: पुलिस, होमगार्ड, सिविल डिफेंस, एनसीसी या एनएसएस का एक व्यक्ति। यह टीकाकरण केंद्र पर प्रवेश करते समय पंजीयन चैक करेगा।
वैक्सीनेशन ऑफिसर 2: एक व्यक्ति जो दस्तावेजों का परीक्षण करेगा।
वैक्सीनेशन ऑफिसर 3 और 4 : भीड़ नियंत्रित करने और सहयोग के लिए दो लोग सपोर्टिंग स्टाफ के भी रहेंगे।

COMMENTS

WORDPRESS: 0