Fathers Day 2020 : इसलिए मनाया जाता है फादर्स डे, जानें इसका इतिहास और महत्व

Fathers Day 2020 : इसलिए मनाया जाता है फादर्स डे, जानें इसका इतिहास और महत्व

Fathers Day 2020: रिश्तों को सम्मान देने के लिए कुछ खास दिवस उत्सव के रूप में मनाए जाते हैं और खास बात ये है कि ये स्पेशल दिन दुनियाभर के देशों में सेलिब्रेट किए जाते हैं। अब मौका है फादर्स डे (पितृ दिवस) का। बता दें कि फादर्स डे (Father’s Day 2020) हर साल जून के तीसरे रविवार को मनाया जाता है। इस दिन पिता के प्रति आभार, प्यार प्रकट किया जाता है। विश्व के कई देशों में फादर्स डे अलग-अलग तारीखों पर मनाया जाता है। इस बार फादर्स डे 21 जून रविवार को है।

Fathers Day 2020: महत्व

वेलेंटाइन डे, फ्रेंड्स डे, मदर्स डे की तरह ही फादर्स डे भी मनाने का चलन देश-विदेश में है। ये पिता के सम्मान में मनाया जाता है। हालांकि माता-पिता का सम्मान केवल एक दिन तक सीमित नहीं रह सकता लेकिन पश्चिमी सभ्यता के असर के चलते हमारे यहां भी अब ये विशेष दिन मनाया जाने लगा है। इस दिन को बच्चे, किशोर, युवा अपने पिता के साथ सेलिब्रेट करते हैं और पित को गिफ्ट भी देते हैं। दरअसल जन्मदाता होने के कारण मां पूजनीय और सम्मानीय है, ठीक उसी तरह पिता का दर्जा भी पालनहार का होता है। पिता ही सृजनकर्ता और भविष्य बनाने वाला माना जाता है। बच्चों के सपनों और ख्वाहिशों को पूरा करने का दायित्व भी काफी हद तक पिता ही उठाते हैं। इसलिए पिता का महत्व शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। पिता परिवार परिवार के नायक होते हैं और हर परिस्थिति का सामना करने के लिए वे आत्मविश्वास का स्तंभ होते हैं। बच्चों के जीवन को अनुशासित, उसे सही दिशा, मार्गदर्शन देने की जिम्मेदारी पिता की ही होती है। पिता पूरे दिन संघर्ष करते हैं और अपने परिवार व बच्चों का जीवनयापन करते हैं।

Fathers Day 2020: इतिहास

दरअसल Father’s Day मनाने की शुरुआत अमेरिका से हुई। मदर्स डे सेलिब्रेशन से प्रेरित होकर 1909 में सबसे पहली बार वॉशिंगटन के स्पोकेन शहर में सोनोरा डॉड ने अपने पिता की याद में इस दिन को सेलिब्रेट किया। 1909 में इस शहर के ओल्ड सेंटेनरी प्रेस्बिटेरियन चर्च में मदर्स डे को लेकर उपदेश दिया जा रहा था, इसी समय सोनोरा डॉड को फादर्स डे मनाने का ख्याल आया। दरअसल सोनोरा जब 16 साल की थी तब उनकी मां का निधन हो गया था और पिता ने उनको और उनके 5 भाई-बहनों की देखभाल कर उन्हें बड़ा किया था। पिता ने मां की भूमिका निभाते हुए बच्चों को कभी मां की कमी महसूस नहीं होने दी। इस पर सोनोरा ने स्पोकेन मिनिस्ट्रियल एसोसिएशन से संपर्क कर उन्हें 5 जून को फादर्स डे के रुप में मनाने की अनुमति मांगी क्योंकि इस दिन उनके पिता का जन्मदिन होता था। हालांकि उन्हें कुछ दिनों बाद की अनुमति मिली और तब से वाशिंगटन राज्य में जून के तीसरे रविवार को फादर्स डे के रूप में मनाया जाने लगा।

कई अमेरिकी राष्ट्रपतियों ने दी मंजूरी

1909 में स्थानीय स्तर पर फादर्स डे सेलिब्रेट होने के बाद इसका चलन अगले कुछ सालों में काफी तेजी से बढ़ा। वर्ष 1916 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति वुडरो विल्सन ने फादर्स डे मनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी। इसके बाद 1924 में तत्कालीन राष्ट्रपति केल्विन कुलिज ने इसे राष्ट्रीय आयोजन घोषित किया। 1966 में तत्कालीन राष्ट्रपति लिंडन जॉनसन ने इस खास दिन को हर साल जून के तीसरे रविवार को मनाने का फैसला किया। ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि फॉदर्स डे मनाने की कोई निश्चित तारीख किसी को नहीं पता थी।

दुर्घटना में मारे गए पिताओं को दिया सम्मान

दरअसल फादर्स डे का सेलिब्रेशन कई देशों में अलग-अलग तारीखों पर होता है। अमेरिका में इसकी शुरुआत होने की कहानी के अलावा ये भी माना जाता है कि इसकी शुरुआत पश्चिम वर्जीनिया के फेयरमोंट में हुई थी। यहां 19 जून 1910 को फादर्स डे मनाया गया। 6 दिसंबर 1907 को पश्चिम वर्जीनिया के मोनोंगाह में एक खदान में हुई विस्फोट की घटना में 300 से ज्यादा लोग मारे गए थे। इन्हीं के सम्मान में पिता को खास दिन समर्पित किया गया। यहां इस दिन को मनाने का श्रेय ग्रेस गोल्डन क्लेटन को दिया जाता है, जो चाहतीं थी कि बच्चों को अपने पिता के सम्मान और उन्हें याद रखने के लिए एक दिन होना चाहिए।

Fathers Day 2020: कैसे मनाएं फादर्स डे

दरअसल ये दिन सभी पिता, दादा और पूर्वजों को उनके संघर्ष, कर्मों और नैतिक मूल्यों को देने के बदले उन्हें सम्मान, प्यार और आभार मानने के लिए समर्पित है। पिता के प्यार, संघर्ष की कोई सीमा नहीं है और हर पिता अपने बच्चों के लिए आदर्श होता है। बहरहाल सभी से आग्रह कि वे इस खास दिन अपने पिता के लिए समय निकाले और उन्हें विशेष महसूस कराएं.. शुभकामनाएं दें, उपहार दें।

COMMENTS

WORDPRESS: 0