सीहोर में बारिश का कहर, तीन डेमो के गेट खुलने से नर्मदा खतरे के निशान पर

सीहोर में बारिश का कहर, तीन डेमो के गेट खुलने से नर्मदा खतरे के निशान पर

सीहोर। पिछले 3 दिनों से लगातार आसमान से बरस रही आफत की बारिश ने तवा बरगी और बारना डेम के पूरे गेट खुलने से नर्मदा का जलस्तर तेजी से बढ़ गया सीहोर जिले के बुधनी क्षेत्र के नर्मदा खतरे के निशान आने से नांदनेर से होशंगाबाद जाने वाला पुल को पूरी तरह से डूबा दिया गया।

सोमवार दोपहर 12 बजे से नादनेर से होशंगाबाद जाने का रास्ता बंद है नर्मदा का जलस्तर बढ़ने से सोमलवाडा, नादनेर, सुठानिया, नारायणपुर ,जनमासा गाव चारों तरफ से घिर हुआ है यहां के लोग घरों में डरे सहमे बैठे हैं आने जाने का चारों तरफ से रास्ते बंद हैं प्रशासन सतर्क संपर्क बनाए हुए वहीं शाहगंज घाट पर मंदिर पूरी तरह डूबे हुए है आफत की बारिश ने भगवान तक को नहीं छोड़ा एबीपी न्यूज़ भी मौके पर पहुंच कर ग्रामीण इलाकों का जायजा लिया, सीहोर जिले के कलेक्टर अजय गुप्ता, एसपी एस एस चौहान ,बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में पहुंचे जहां रास्ते में नर्मदा का जलस्तर तेज होने के कारण सोमालवाड़ा ,नारायणपुर, सुठानिया नहीं पहुंच पाए .नादनेर से ही हालातों का जायजा लिया ।

और ग्रामीणों से सतत् सम्पर्क बनाए हुए है मीडिया से चर्चा करते हुए कलेक्टर अजय गुप्ता ने कहा एसडीआरएफ ,एनडीआरएफ टीम से सतत् संपर्क में है वही हमें एक आदमी को भी लिफ्ट करना पड़ा तो हमें हेलीकॉप्टर भी यूस करेंगे भोपाल से हम सेना मुख्यालय से संपर्क बनाए हुए है सेना भी.बुलानी पडी तो वह भी करेगें किसी भी संसाधनों की कमी नहीं आने दी जाएगी।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0