20 साल पहले सास फर्जी मार्कशीट से शिक्षक बनी थी, बहू की शिकायत पर बर्खास्त

20 साल पहले सास फर्जी मार्कशीट से शिक्षक बनी थी, बहू की शिकायत पर बर्खास्त

मुरैना। फर्जी मार्कशीट से 20 साल पहले शिक्षक की नौकरी हासिल करने वाली महिला को उसकी ही बहू की शिकायत के बाद पद से बर्खास्त कर दिया गया। बहू ने पारिवारिक कलह की वजह से प्रशासन से शिकायत की। महिला ने नौकरी के वक्त जो मार्कशीट लगाई थीं, उसमें उम्र औरनाम में गड़बड़ी पाई गई थी।कलेक्टर ने चार सितंबरको महिला शिक्षक प्रेमलता गोयल की बर्खास्तगी काआदेश जारी किया। प्रेमलता जरेरुआ प्राइमरी स्कूल में पदस्थ थीं।

मुरैना की रहने वाली प्रेमलता की 1998 में अध्यापक के रूप में नियुक्ति हुई थी। आरोप था कि प्रेमलता ने अपनी मार्कशीट में उम्र और अन्य जानकारी से छेड़छाड़ की थी।प्रेमलता गोयल के बेटे योगेश की कुछ सालों पहले सड़क हादसे में मौत हो गई थी। इसके बाद सास-ससुर और बहू के बीच झगड़े होने लगे। यहमामला कोर्ट तक पहुंच गया।

मां की जन्मतिथि 1964, बेटी का 1976 में जन्म

बताया गया किसरकारी नौकरी हासिल करने के लिए शिक्षक प्रेमलता गोयल ने दो-दो मार्कशीटबनवाईं। पहली यूपी के आगरा की और दूसरी मध्य प्रदेश की। आगरा की मार्कशीट में उन्होंने अपनीजन्मतिथि3 अगस्त 1964 बताई है, जबकि उनकी ही बेटी आरती के स्कूलप्रमाणपत्र में जन्मतिथि15 जून 1976 है। यानी मां-बेटी की उम्र में महज 12 साल का अंतर है।शिक्षा अधिकारीके अनुसार, बहू ने ही जनसुनवाई में कई शिकायतें की थीं। जांच में फर्जीवाड़ा पकड़ में आया।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0