इंदौर में विवाह की वर्षगांठ पर अधिकारी ने लोगों को इकट्ठा कर गाया गाना, निलंबित

इंदौर में विवाह की वर्षगांठ पर अधिकारी ने लोगों को इकट्ठा कर गाया गाना, निलंबित

इंदौर। विवाह की वर्षगांठ पर लोगों को इकट्ठा कर गाना गाना इंदौर नगर निगम के जोनल अधिकारी (जेडओ) को भारी पड़ गया। लॉकडाउन में बिना अनुमति हुए आयोजन का वीडियो निगमायुक्त प्रतिभा पाल तक पहुंचा तो उन्होंने जेडओ को निलंबित कर विभागीय जांच का आदेश दे दिया है। मामला इंदौर के जोन-सात के जेडओ चेतन पाटिल का है।

19 मई को विवाह की वर्षगांठ पर स्कीम-54 जोनल ऑफिस के पास स्थित कस्तूरी सभागृृह में उन्होंने कुछ लोगों की मौजूदगी में गाना गाया था। इस दौरान जेडओ की पत्नी भी मौजूद थीं। बताया जाता है कि इसमें जेडओ समेत कुछ अन्य लोगों ने मास्क तक नहीं पहना था। शारीरिक दूरी का भी पालन नहीं किया गया था। किसी ने गाना गाते हुए उनका वीडियो वायरल कर दिया और वह निगमायुक्त के पास पहुंच गया।निगमायुक्त ने इसे शारीरिक दूरी का उल्लंघन मानते हुए कार्रवाई की।

संतोषजनक उत्तर नहीं दे सके

गुरुवार को जारी आदेश में निगमायुक्त ने कहा है कि सभी अधिकारी-कर्मचारी दिन-रात नागरिकों को वैश्विक महामारी से बचाने का काम कर रहे हैं, ऐसे में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी संभाल रहे जेडओ द्वारा बिना सक्षम स्वीकृृति और अनुमति के इस प्रकार का आयोजन निर्देशों की अवहेलना और अनुशासनहीनता है। कारण बताओ नोटिस के जवाब में भी जेडओ संतोषजनक उत्तर नहीं दे सके, इसलिए उन्हें निलंबित किया जाता है।

निगम मस्टरकर्मी संघ ने संभाला मोर्चा

उधर, पाटिल पर कार्रवाई के बाद नगर निगम मस्टर कर्मचारी संघ ने उनके समर्थन में मैदान संभाल लिया है। संघ के अध्यक्ष प्रवीण तिवारी ने कहा है कि भारी तनाव के बीच कोरोना संक्रमण की रोकथाम का काम कर रहे कर्मचारियों को कुछ देर के मनोरंजन की ऐसी सजा नहीं देनी चाहिए। पुलिस अधिकारी खुद तनाव कम करने के लिए अपने कर्मचारियों को गाना गाने को कह रहे हैं। वहीं, निगम कर्मचारी को परिवार के साथ गाना गाने की सजा दी गई है। अगर कार्रवाई करनी थी तो पहले जांच करनी चाहिए थी।

COMMENTS

WORDPRESS: 0