इस बार सोमवार से शुरू होगा सावन मास और सोमवार को ही समापन

इस बार सोमवार से शुरू होगा सावन मास और सोमवार को ही समापन

भोलेनाथ की साधना को समर्पित पावन मास सावन अगले माह की 6 जुलाई से शुरू होगा। इस माह शिवालयों में भगवान भोलेनाथ की आराधना के स्वर गूंजेंगे। लंबे समय बाद एक बार फिर सावन माह सोमवार से शुरू और सोमवार को ही विदा होगा। खास बात यह है कि इस बार सावन की शुरुआत उत्तराषाढ़ा नक्षत्र व वैधृति योग में होगी। इसके साथ ही चंद्रमा मकर राशि में विचरण करेगा। इससे इस बार सावन मास में जमकर बारिश होगी।

मां चामुंडा दरबार के पुजारी रामजीवन दुबे व ज्योतिषी विनोद रावत के अनुसार, लंबे समय बाद जो योग बन रहे हैं, वह पूरे महीने अच्छी बारिश के संकेत दे रहे हैं। बता दें कि 6 जुलाई सोमवार से सावन माह शुरू होगा। वहीं, 3 अगस्त को सावन मास का अंतिम दिन है और इसी दिन सोमवार को रक्षाबंधन का पर्व भी मनेगा।

शिव जी-लक्ष्मी नारायण जी की पूजा

पंडित के अनुसार, इस वर्ष श्रावण माह में 5 सोमवार होंगे। पहला सोमवार 6 जुलाई, दूसरा 13 जुलाई, तीसरा 20 जुलाई, चौथा 27 जुलाई और पांचवां सोमवार अगले माह 3 अगस्त को रहेगा। सावन माह की शुरुआत उत्तराषाढ़ा नक्षत्र वैधृति योग तथा कौलव करण प्रतिपदा तिथि होने से अभी फलदायक वन सोमवार रहेगा। इस दिन भगवान शिव तत्व की साधना, आराधना, पूजा, व्रत मंगलकारी तथा अनिष्ट विनाशक सिद्ध होगा। यह पंचागीय संयोग में शिव पूजा के साथ लक्ष्मी नारायण भगवान की पूजा-अर्चना करना भी विशेष फलदाई रहेगी। मकर का चंद्रमा मेष राशि वालों के लिए विशेष शुभ तथा मिथुन, तुला और धनु राशि वालों के लिए थोड़ा कठिन प्रद रहेगा। शेष राशि वालों के लिए प्रथम वन सोमवार साधारण रहेगा। शिव पूजा से सर्वत्र लाभ-विजयश्री की प्राप्ति होगी।

COMMENTS

WORDPRESS: 0