दुनिया में सबसे अधिक सैलरी पाने वाले CEO हैं सुंदर पिचाई

दुनिया में सबसे अधिक सैलरी पाने वाले CEO हैं सुंदर पिचाई

अमेरिका की दिग्गज तकनीक कंपनी अल्फाबेट के सीईओ सुंदर पिचाई को 2019 में कुल 28.1 करोड़ डॉलर या 2,144.53 करोड़ रुपये की सैलरी मिली। भारतवंशी सुंदर पिचाई दुनिया के सबसे अधिक सैलरी पाने वाले अधिकारियों में शामिल रहे। अल्फाबेट ने जानकारी दी है कि इस साल उनका वेतन बढ़ कर 20 लाख डॉलर (15.26 करोड़ रुपये) हो जाएगी। पिचाई की सैलरी अल्फाबेट कर्मचारियों के औसत कुल वेतन के 1085 गुना है। बता दें सुंदर पिचाई 1972 में भारत के चेन्नई में जन्मे थे।

बता दें पिचाई के इस पैकेज का पैकेज का अधिकांश हिस्सा शेयरों में हैं, जिनमें से कुछ का भुगतान अमेरिकी शेयर बाजार सूचकांक एसएंडपी 100 इंडेक्स की अन्य कंपनियों के मुकाबले अल्फाबेट के स्टॉक रिटर्न के आधार पर किया जाएगा। अगर इस हिसाब से देखें तो उनका बतौर सैलरी भुगतान काफी कम हो रहेगा। बता दें कि 2019 में पिचाई की सैलरी 6.5 लाख डॉलर यानी करीब 5 करोड़ रुपये थी। 

200 फीसदी की बढ़ोतरी

2018 गूगल सीईओ के पद पर रहते हुए पिचाई की बेसिक सैलरी 4.6 करोड़ रुपये रही थी, मगर अब इसमें 200 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। 2018 में उन्हें 19 लाख डॉलर यानी करीब 135 करोड़ रुपये का कुल वेतन मिला था, जिसमें 4.6 करोड़ रुपये की बैसिक सैलरी शामिल है। पिचाई को प्रदर्शन के आधार पर ही स्टॉक यूनिट दिया जाना तय किया गया था, जिसकी कुल कीमत 31.5 करोड़ रुपये है।

कौन हैं सुंदर पिचाई 

पिचाई को अल्फाबेट के संस्थापकों लैरी पेज और सर्गी ब्रिन के इस्तीफे देने के बाद कंपनी का सीईओ चुना गया था। पिचाई एल्फाबेट के अलावा गूगल के भी सीईओ हैं। हाल ही में सुंदर पिचाई ने नॉन-प्रोफिट फर्म गिव इंडिया को 5 करोड़ का दान दिया था। इससे पहले ऑनलाइन डोनेशन प्लेटफॉर्म को गूगल ने भी 5 करोड़ रुपये का दान किया था।सुंदर पिचाई का असली नाम पिचाई सुंदरराजन है। पिचाई ने आईआईटी, खड़गपुर से बैचलर डिग्री लेने के बाद अमेरिका की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से एमएस की डिग्री हासिल की और फिर वॉर्टन यूनिवर्सिटी से एमबीए भी किया। 2004 में वे बतौर प्रोडक्ट और इनोवेशन ऑफिसर गूगल से जुड़े थे।

COMMENTS

WORDPRESS: 0