कृषि विश्वविद्यालयों में स्नातक के तीन नए पाठ्यक्रम शामिल

कृषि विश्वविद्यालयों में स्नातक के तीन नए पाठ्यक्रम शामिल

बीएससी कृषि, वानिकी और उद्यानिकी पाठ्यक्रम को कृषि मंत्री कमल पटेल ने दी मंजूरी

भोपाल। कृषि को लाभ को धंधा बनाने की दिशा में क्रांतिकारी कदम उठाते हुए कृषि विश्वविद्यालयों में स्नातक के तीन नए पाठ्यक्रम बीएससी कृषि, वानिकी और उद्यानिकी शामिल किए हैं। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।


राज्य के ​कृषि विश्वविद्यालयों के लिए पीएटी परीक्षा का संचालन इस वर्ष राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय द्वारा किया जाना है। परीक्षा के आयोजन के लिए प्राप्त प्रस्ताव को सहमति दी जा चुकी है। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल ने इस वर्ष परीक्षा में पुराने विषयों के साथ तीन नए विषयों को शामिल करने की मंशा जताई थी। कृषि विश्वविद्यालयों में फिजिक्स, केमिस्ट्री, मेथ्स और एग्रीकल्चर के विभिन्न समूहों के आधार पर विषयों का विभाजन था अब एग्रीकल्चर, बायोलॉजी और केमिस्ट्री समूह को शामिल करते हुए तीन नए पाठ्यक्रम तैयार किए गए हैं। बीएससी कृषि, बीएससी वानिकी और बीएससी उद्यानिकी नाम से यह तीन पाठ्यक्रम इस वर्ष से शामिल हो जाएंगे। इन नए पाठ्यक्रमों की राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय द्वारा अनुशंसा की गई थी। पीएटी 2020 में तीन नए पाठ्यक्रमों को शामिल करने के लिए नियमावली में आवश्यक संशोधन कर दिया गया है। परीक्षा का आयोजन प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा किया जाएगा, कृषि मंत्री कमल पटेल के अनुमोदन के बाद परीक्षा की तैयारियां शुरू की जा रही है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0